ये रत्न दिल की बीमारी दूर करने से लेकर यौन शक्ति बढ़ाने में रामबाण है

0
126
KAHARUA STONE

नई दिल्ली:  रत्न ज्योतिष और हमारे शरीर में होनेवाले बदलाव के बीच अदभुत संबंध है। कई बार शरीर कई तरह की पीड़ा ग्रसित हो जाती है। इलाज अपना असर दिखाने में नाकाम रहता है। जब हर जगह से लोग हार जाते हैं तब रत्न और ज्योतिष की तरफ ध्यान देते हैं। दरअसल शरीर में मौजूद अलग अलग तत्वों में जब असंतुलन पैदा हो जाता है तब शरीर बीमार हो जाता है। वास्तव में ये रत्न उसी असंतुलन को दूर करने में कारगर होते हैं।

हलांकी आगे बात बढ़ाने से पहले यहां पर ये साफ कर देना उचित होगा कि केवल रत्न के भरोसे ही आप नहीं रहें। क्योंकि बीमारी को दूर करने के लिए उसका उचित इलाज भी जरुरी है।

इसी तरह का एक रत्न है कहरूआ। देश के अलग अलग हिस्सों में इसे अलग अलग नामों से भी जाना जाता है। कहरूवा वास्तव में वनस्पति जाति का उपरत्न है। पत्थर के दूरे रत्नों की तरह इसमें भी चमक रहती है। लेकिन ये रत्न पत्थर का नहीं होता है। क्योंकि ये वनस्पति रत्न है। यही वजह है कि पत्थर के रत्नों के मुकाबले इसका वजन भी कम होता है।

इस रत्न की खासियत ये है कि ये किसी एक बीमारी में नहीं बल्कि कई अलग अलग बीमारियों को दूर करने में मददगार होता है। इसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल यौन क्षमता बढ़ाने में होता है। यही वजह है कि इसे वीर्य वर्धक रत्न भी कहा जाता है। लेकिन केवल यौन शक्ति बढ़ाने में ही ये लाभकारी नहीं है। उसके साथ साथ दिल की बीमारी, उच्च रक्तचाप, पित्त रोग, बवासीर जैसी बीमारियों को दूर करने में भी ये अचूक रत्न है। कहरुवा रत्न का प्रयोग केवल गंभीर बीमारियों में ही नहीं बल्कि सर्दी खांसी जैसी मामूली बीमारी को दूर करने में भी किया जा सकता है।

नोट:  ये कंटेंट अलग अलग लोगों के विचारों पर आधारित है। इसकी प्रामाणिकता का दावा NTI नहीं करता है। इसलिए किसी भी प्रकार के रत्न को धारण करने से पहले जानकार की सलाह जरुर ले लें।

Loading...

LEAVE A REPLY